इस तरह मनाएं अक्षय तृतीया, बदल जायेगी आपकी ज़िन्दगी

0
135

अक्षय तृतीया का मतलब है ऐसी तिथि जिसका कभी अंत नहीं होता। अक्षय तृतीया 7 मई को मनाई जाएगी। हिन्दू धर्म के अनुसार वैशाख महीने का काफी महत्व है। मई महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया कहा जाता है।


करें यह उपाय

1 ) सोने की खरीददारी

मान्यता है इस दिन सोने की खरीददारी करने से घर परिवार में सुख समृद्धि आती है और साथ ही ख़रीदा गया सोना परिवार की हर नयी पीढ़ी के साथ बढ़ता जाता है।

वैदिक काल से ही सोना बहुत ही कीमती व प्रिय माना जाता है। सोना न सिर्फ धन और समृद्धि का प्रतीक है, बल्कि समय के साथ इसके मूल्य में भी बढ़ोत्तरी होती रहती है।

माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन सूरज की किरणों का प्रभाव बहुत ही तेज धरती पर पड़ता है। सूर्य की तुलना सोने से की जाती है इसी वजह से सोना खरीदना शक्ति और ताकत का प्रतीक माना जाता है।


2) माँ लक्ष्मी की आराधना

इस दिन जो भी भक्त सच्चे मन से माँ लक्ष्मी की साधना कर उनको प्रसन्न करता है, उसके घर में माँ की कृपा हमेशा ही बनी रहती है।


3) कौड़ियों का करें प्रयोग

कहा जाता है की इस दिन 11 कौड़ियों को लाल कपड़े में बाँधने से पूजा स्थान में रखने से देवी लक्ष्मी प्रासां व आकर्षित होती है ।


इन वस्तुओं का करें दान

अक्षय तृतीया पित्तरों और पूर्वजों को प्रसन्न करने का एक बड़ा अवसर माना जाता है। इस दिन गाय, भूमि, तिल, स्वर्ण, घी, वस्त्र, धान्य, गुड़, चांदी, नमक, शहद और कन्या इन बारह दान का महत्व है।


पूजा और सोना खरीदने का शुभ समय -:

तिथि – 7 मई 2019
पूजा का शुभ मुहूर्त – सुबह 5:40 बजे से दोपहर 12:17 बजे तक ।

सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त- सुबह 6:26 बजे से रात 11:47 बजे तक ।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here