गुरु पर विश्वास से मिलती है शाबर में सफलता

659
छोटी सिद्धियों में शाबर मंत्र लाजवाब
छोटी सिद्धियों में शाबर मंत्र लाजवाब।

Trust in guru gives success in shabar : गुरु पर विश्वास से मिलती है शाबर में सफलता। यह महत्वपूर्ण सूत्र है। जीवन का कोई भी क्षेत्र हो सकारात्मक सोच, विश्वास और दृढ़ निश्चय के बिना सफलता नहीं मिलती है। शाबर भी इससे अछूता नहीं है। बल्कि यूं कहें तो ज्यादा अच्छा होगा कि शाबर में सफलता का आधार ही सकारात्मक सोच, विश्वास और दृढ़ निश्चय है। इसके साथ ही जरूरी है गुरु पर विश्वास। इसी के बल पर प्रयोगकर्ता प्रकृति की शक्ति का दोहन करता है। इच्छित लक्ष्य को प्राप्त करता है। गुरु और उसके मंत्र पर अटूट विश्वास और लक्ष्य पाने का भरोसा करें। फिर सकारात्मक सोच एवं दृढ़ निश्चय के साथ लक्ष्य प्राप्ति की कोशिश करें।

शाबर में मंत्र का अर्थ व वाक्य विन्यास का खास महत्व नहीं

शाबर में मंत्रों, उसके अर्थ एवं वाक्य विन्यास गौण होता है। उस पर ध्यान देने के बदले गुरु पर विश्वास से सफलता पाने की कोशिश होती है। उनके मंत्रों की महिमा का बखान किया जाता है। मंत्रों में बार-बार गुरु की कृपा या गुरु की महिमा का जिक्र आता है। आज जब भौतिक रूप से योग्य गुरु का अभाव है। ऐसे में गुरु को बदले गुरु-तत्व को समझने की जरूरत बढ़ गई है। ताकि साधक उसके तत्व को समझे। फिर तदनुसार मंत्र साधना में गुरु की कमी को पूरा कर सके। उल्लेखनीय है कि शिव ही आदि गुरु हैं। उन्हीं के त्रिदेव रूप के अवतार नव-नाथ शाबर मंत्रों में जिक्र भरा है।

गुरु पर विश्वास से प्रार्थना कर पा सकते हैं फल

नवनाथों को समझने के लिए निम्न दोहे को पढ़ें। उम्मीद करता हूं कि इससे जिज्ञासुओं की सोच स्पष्ट होगी। और उन्हें मार्गदर्शन मिल सकेगा कि गुरु की कैसे और किस रूप में कृपा हासिल की जा सकती है। ध्यान रहे कि इस नवनाथ माला के रोज पाठ मात्र से ही कई संकट दूर होते हैं। साथ ही मनोकामना भी पूरी होती है। इसमें गुरु के प्रति अपार श्रद्धा जरूरी है। रोज स्नान के बाद नियमित समय व स्थान पर बिना क्रम टूटे इसका पाठ करें। निश्चय ही चमत्कारिक लाभ होगा। यह शाबर मंत्रों की सिद्धि व प्रयोग में भी उपयोगी होगा। ध्यान रखें कि शाबर में गुरु पर विश्वास से ही फल मिल जाता है।

नवनाथ माला

आदिनाथ महेश आकाश रूप छाय रहे। उदय-नाथ  पार्वती पृथ्वी रूप भाए हैं।
सत्यनाथ ब्रह्मा जी जिनका है जलरूप। वही तो कृपा कर सृष्टि को रचाए हैं।
विष्णु संतोषनाथ तेज खांडा खड्ग स्वरूप। राज-पाट-अधिकारी  वही तो कहाए हैं।
अचल अचंभेनाथ जिनका है शेष-रूप। पृथ्वी का भार सब शीश पर उठाए हैं।
गज-बली कंथडिऩाथ सिद्धि देता हार। हस्ति रूपी धाड़ गण-पति कहलाए हैं।
ज्ञानपारखी चंद्रमा सिद्ध हैं चौरंगीनाथ। अठार भार वनस्पति में वही समाए हैं।
मायापति दादा गुरु कृपालु मत्स्येंद्रनाथ। सब ही को अन्न- धन- कपड़ा पुराए हैं।
गुरु तो गोरक्षनाथ स्वयं ज्योति स्वरूप जो। विश्व भर योग शक्ति उदार फैलाए हैं।
बड़े हैं जो भाग्यवंत जिन योग प्राप्त किया। नव नाथ  नव नाथ गुरु गण गाए हैं।
नाथ ये त्रिलोक नव नाथ को नमन कर। नव नाथ नाम शुभ मेरे मन भाए हैं।

दोहा

श्री नवनाथ को चिनऊं, दीजिए शुभ आशीष।
आप ही मम सर्वस्व हैं, आपहिं हैं मम ईश।
करें कृपा मुझ दीन पर, करूं सुयश गुण-गान।
नवनाथ माला शुभ गुनूं, कीजिए बुद्धि प्रदान।
जिसके पठन श्रवण से, मिटे त्रिविध भव ताप।
अचल मोक्ष पद पावहीं, जपिहैं जो चित लाय।

भीषण संकट से उबारते हैं गुरु

गुरु पर विश्वास से क्या हो सकता है, इसे स्पष्ट करने के लिए निम्न दोहा पर्याप्त है। गुरु के नाम वाले इस दोहे में गजब ताकत है। भीषण संकट में फंसे हों तो इसका प्रयोग करें। रोज सुबह स्नान के बाद गीले वस्त्र में कम से कम एक बार इस दोहे को भक्तिपूर्वक पढ़ें। शीघ्र फल के लिए आवृत्ति तीन बार कर लें। कुछ दिनों में चमत्कारिक असर दिखेगा। संक्रांति या अमावस्या से अगली अमावस्या तक रोज 21-21 स्तोत्र का पाठ कर अंत में कुल मंत्र के दसवें हिस्से से हवन करें। भस्म को किसी साफ कपड़े से छान कर रख लें। बाद में कोई समस्या हो, लगातार बीमार हो या किसी महत्वपूर्ण काम से कहीं जा रहा हो तो दोहे को एक बार पढ़कर भस्म को उस व्यक्ति के माथे पर लगाएं। मकसद अवश्य पूरा होगा।

चमत्कारिक दोहा

आदिनाथ  कैलास  निवासी,  उदयनाथ  काटे जम  फांसी।
सत्यनाथ सारणी संत भाखे, संतोषनाथ सदा संतन की राखे।
कन्थडिऩाथ  सदा  सुखदायी,  अचती  अचम्भेनाथ सहायी।
ज्ञान  पारखी  सिद्ध  चौरंगी,  मच्छेन्द्रनाथ  दादा  बहुरंगी।
गोरखनाथ  सकल  घटव्यापी, काटे कलिमल तारे भव पीड़ा।
नव नाथों के नाम सुमिरिये, तनिक भस्मि ले मस्तक धरिये।
रोग  शोक  दारिद्र  नशावे,  निर्मल  देह  परम  सुख पावे।
भूत    प्रेत    भय   भञ्जना,  नव   नाथों   के  नाम।
सेवक   सुमिरे   चन्द्रनाथ,   पूर्ण   होय   सब   काम।

 

यह भी पढ़ें- दैनिक उपयोग में आने वाले मंत्र, करे हर समस्या का समाधान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here