इस तरह से दूर करें वास्तु दोष

61
वास्तु दोष
वास्तु दोष

How to remove vaastu dosh : कई बार बहुत अधिक मेहनत के बाद भी वो परिणाम नहीं मिल पाता जिसकी हम आशा कर रहे होते हैं। काम-धंधा ठीक चलने के बाद भी पैसों की दिक्कत लगातार ही बानी रहती है। इन सबका कारण सोचने पर कुछ समझ नहीं आता है। इसके पीछे कई बार वास्तु दोष भी होता है। वास्तु दोष होने से घर में नकारात्मक ऊर्जा, कई प्रकार की दिक्कत्तें या फिर कोई अन्य समस्या लगी ही रहती है। घर में वास्तु दोष होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। बहुत सी चीज़ें ऐसी होती है जिन्हें घर में रखने से घर में वास्तुदोष होता है।

युद्ध सम्बन्धी चित्र

अपने घर की दीवारों पर बहुत से लोग किसी भी युद्ध जैसे महाभारत से सम्बंधित चित्र लगाना पसंद करते हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार इस तरह की कोई भी तस्वीर घर में नहीं लगानी चाहिए। इस तरह के चित्र से घर में नकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है।

कैक्टस और अन्य कांटेदार पौधे

घर में पेड़-पौधे रखने का शौक बहुत लोगों को होता है। माना जाता है की घर में कैक्टस या कोई भी कांटेदार पौधा लगाने से बचना चाहिए। इस तरह के पौधे घर और घर के सदस्यों के लिए शुभ नहीं माने जाते हैं।

घर में नटराज की मूर्ति या स्टेच्यू

नटराज की मूर्ति तांडव दर्शाती है। वास्तुशास्त्र में कहा गया है की घर में नटराज की मूर्ति नहीं रखनी चाहिए। इससे घर के सदस्यों में मन-मुटाव की स्थिति पैदा हो सकती है। इसे घर में रखना अच्छा माना गया है।

डूबती हुई नाव या जहाज की तस्वीर

वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि घर में डूबती हुई नाव या जहाज की तस्वीर कभी नहीं लगानी चाहिए। डूबती हुई नाव बर्बादी और नुकसान की ओर इशारा करती है ऐसी तस्वीर या मूर्ति घर में लगाने से घर के सदस्यो के सम्बन्ध खराब होने की संभावना रहती है । यह बड़ा वास्तु दोष होता है।

कबाड़ इक्कट्ठा करने से बचें

घरों में अकसर लोग पुराना कबाड़ या रद्दी जमा कर के रखते हैं। इसके लिए हमेशा एक जगह अलग से होनी चाहिए। पुराने या टूटे हुए जूते-चप्पल हमें आगे बढ़ने से रोकते हैं। इन्हें भी घर से निकाल दें।

बहते पानी या झरने की तस्वीर

बहुत से लोग अपने घरों में वाटर फाउंटेन लगाना अच्छा मानते हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार में घर में पानी के झरने की तस्वीर या झरना लगाना शुभ नहीं माना गया है कहा जाता है की इससे घर में अस्थिरता आती है और घर के सदस्यों का स्वास्थ्य और पैसा पानी की तरह ही बह जाता है।

यह भी पढ़ें- व्यवसाय में लाभ प्राप्ति के उपाय

फटे-पुराने वस्त्र

घरों में अकसर फटे-पुराने कपड़ों को भी लोग पहनते रहते हैं। इससे घर में नकारात्मक मानसिकता और ऊर्जा का संचार होता है। इस तरह के वस्त्रों को किसी को दान कर देना चाहिए या इसका किसी और काम में उपयोग करना चाहिए।

खुली अलमारी

घर में छोटे-मोटे सामान, किताबें रखने वाली अलमारियां अगर बिना दरवाज़े के हैं या उनमें कांच नहीं लगा तो ऐसे में वह खुली मानी जाएगी। माना जाता है कि ऐसी अलमारी के से हर तरह के कार्यों में रुकावट आती है। धन पानी की तरह बहता है।

देवी-देवताओं की मूर्ति या चित्र

देवी-देवताओं की फटी-पुरानी तस्वीर अथवा खंडित मूर्तियां अगर घर में रहे तो वह आर्थिक हानि पहुंचाती है। अत: उन्हें किसी पवित्र नदी में प्रवाहित कर देना चाहिए।

  • देवी-देवताओं की तस्वीरों से घर नहीं सजाना चाहिए। उनके चित्र या मूर्ति का स्थान, दिशा निश्चित होते हैं। कुछ लोग ढेर सारी मूर्तियां और चित्र से घर भर लेते हैं जो की वास्तु दोष होता है।
  • पूजा में चढ़े हुए या मुरझाए हुए फूल घर में नहीं रखें इनसे अशुभ फल मिलता है। अगर घर में बुरी नजर या ताकत से बचने के लिए नींबू-मिर्च लगा रखा है तो हर रविवार उन्हें हटा कर नए लगा दें।

टूटी कुर्सी या टेबल

अगर घर में टूटी हुई कुर्सी या टेबल है तो उसे तुरंत हटा दें। ये आपके पैसों और तरक्की को रोकती है। बैठक का सोफा भी फटा या टूटा हुआ नहीं होना चाहिए। उस पर बिछाई गई चादर भी साफ़ या अच्छी होनी चाहिए।

टूटी-फूटी वस्तुएं

टूटे-फूटे बर्तन, दर्पण, इलेक्ट्रॉनिक सामान, तस्वीर, फर्नीचर, पलंग, घड़ी, दीपक, झाड़ू, मग, कप आदि कोई भी सामान घर में नहीं रखना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है और व्यक्ति मानसिक परेशानियां झेलता है। यह भी माना जाता है कि इससे वास्तु दोष तो उत्पन्न होता ही है, लक्ष्मी का आगमन भी रुक जाता है।

मकड़ी का जाला

घर से मकड़ी के जाले तुरंत हटा दें। इसका होने घर को खंडहर की स्थिति में दर्शाता है। अक्सर लोगों के घर के किसी कोने में जाले लग जाते हैं अगर हैं तो हटा दें।

घर की छत

वास्तु के अनुसार अगर आपके घर की छत गन्दी है। तो वह आपके पैसों की तंगी को बढ़ा सकती है। परिवार की बरकत पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। माना जाता है कि इससे पितृ दोष भी उत्पन्न हो जाता है।

पत्थर, नग या नगिना

कई लोगों को पत्थर, नग, अंगुठी, ताबिज या अन्य इसी तरह के सामान जमा करने की आदत होती है। उन्हें यह मालूम नहीं रहता कि कौन-सा नग फायदा पहुंचा रहा है और कौन-सा नग नुकसान पहुंचा रहा है। इसलिए इस तरह के सामान को घर से बाहर निकाल दें।

चील, कौए, उल्लू, शेर और गिद्ध की तस्वीर

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में चील ,कोवे, उल्लू, शेर – चीता और गिद्ध जैसे पक्षियों और जानवरों की तस्वीर घर में भूलकर भी नहीं लगानी चाहिए. ऐसी तस्वीर घर में लगे से घर से सदस्यो का व्यवहार भी इन्ही की तरह ही अर्थात गुस्से वाला हो जाता है।

अंत में कुछ खास वास्तु टिप्स….

  • घर की खिड़की या दरवाजे से नकारात्मक वस्तुएं दिखाई देती हैं, जैसे सूखा पेड़, फैक्टरी की चिमनी से निकलता हुआ धुआं आदि। ऐसे दृश्यों से बचने के लिए खिड़कियों पर पर्दा डाल दें।
  • घर के मुख्य द्वार के सामने या पास में बिजली का खंभा या ट्रांसफॉर्मर लगा है तो इससे नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है। ऐसे लोगों को अपने कार्यों में हर जगह रुकावट और असफलता का सामना करना पड़ेगा। घर के आसपास यदि कोई सूखा पेड़ या ठूंठ है, तो उसे तुरंत हटा देना चाहिए।
  • घर के प्रवेश द्वार पर हमेशा पर्याप्त रोशनी होनी चाहिए और प्रवेश द्वार साफ होना चाहिए। ऐसा करने से घर में सदैव सकारात्मक ऊर्जा आती है। यदि संभव हो तो प्रवेश द्वार पर लकड़ी की ऊंची दहलीज बनवा दें जिससे बाहर का कचरा अंदर न आ सके। कचरा भी वास्तु दोष बढ़ाता है।
  • अगर आपके घर की दीवारों पर सीलन होती है तो वह भी नकारात्मक ऊर्जा का सूचक होती हैं। घर का प्लास्टर उखड़ा हुआ न हो। यदि कहीं से थोड़ा-सा भी प्लास्टर उखड़ जाए, तो तुरंत उसे दुरुस्त करवाएं। घर को कलर करवाते समय इस बात का ध्यान रखें कि पेंट एक-सा हो। रंगों का तालमेल ठीक होना चाहिए।
  • घर के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में अंधेरा न रखें।
  • उत्तर-पश्चिम क्षेत्रमें तेज रोशनी का बल्ब न लगाएं।
  • घर में तुलसी का पौधा रखें, उससे कई प्रकार के वास्तु दोष दूर रहते हैं। तुलसी के पौधे के पास रोज शाम को दीप दीप जलाएं।

यह भी पढ़ें- राशि के आधार पर जानें कारोबार अनुकूल करने के उपाय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here