ऐसे करें महिलाएं शक्ति की उपासना शीघ्र मिलेगा फल

51
शक्ति की उपासना
शक्ति की उपासना

ladies should Worship Shakti for good results : शक्ति की उपासना करें । शीघ्र मिलेगा फल यदि बार-बार किसी भी कारण से आपको अनावश्यक डॉक्टर के पास दौड़ना पड़ता है और आप इससे बचना चाहती है तो तो नीचे दिए लेख को अवश्य पढ़ें।

यदि आप कमर दर्द, रक्त विकार, स्नायु विकार, असमय बुढ़ापा, झुर्रियों, त्वचा के रूखेपन, मानसिक तनाव ,संतान हीनता, गर्भाशय-योनी विकार, मानसिक व्याधि, भूत-प्रेत, भय वायव्य बाधा, उत्साह की कमी, ऊर्जा की कमी, संवेदन हीनता, तेज-प्रभावशालिता में कमी,आदि का सामना कर रही है तो इसका अर्थ है की आप में पृथ्वी की ऊर्जा अर्थात काली की उर्जा अर्थात मूलाधार की ऊर्जा की कमी है। जो की प्राकृतिक रूप से महिलाओं में अधिक पाया जाता है। या फिर यूँ कहें की यह आपकी मूल प्रकृति है।

ध्यान दें आप प्रकृति की प्रतिकृति है। आपकी संरचना ही इस प्रकार की होती है की ऋणात्मक ऊर्जा अधिक होती है। भावनाओं की अधिकता, कोमलता, उत्पत्ति की क्षमता, मासिक-अवस्था केवल आपमें ही होती है।

यह भी पढ़ें- व्यवसाय में लाभ प्राप्ति के उपाय

पुरुष धनात्मक उर्जा का प्रतिनिधित्व करता है। दोनों ऊर्जाओं का एक निश्चित संतुलन होता है, संतुलन बिगड़ते ही समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। आपके समस्त गुण और प्रतिक्रियाएं इन्हीं पृथ्वी तत्वीय ऊर्जा से प्रभावित होती है। इनकी कमी से उपरोक्त समस्याओं के साथ ही आपकी सम्पूर्ण कार्यप्रणाली भी अव्यवस्थित हो जाती है। समस्याएं उत्पन्न होने लगती है।

अतः आपको अपने मूल उर्जा को बनाए रखना चाहिए।  इससे आप उपरोक्त समस्याओं से बच सकती है। इसके लिए आप शक्ति की उपासनाके साथ निम्न उपाय कर सकती हैं।

1) अपने बाल लम्बे रखें। बाल वातावरणीय तरंगों को ग्रहण करता है। यह तरंग संवेदनशीलता और दूसरों को परखने की क्षमता में वृद्धि करता है। आत्मविश्वास में वृद्धि होती है।

2) पायल अवश्य पहनें। यह पृथ्वी से ऊर्जा लेने की क्षमता को बढ़ाते हैं।

3) सुबह -शाम मिट्टी पर नंगे पाँव जरूर चलें। अनेक रोग अथवा मानसिक तनाव को दूर करता है। काली मिट्टी घर में लाकर उसे 10 मिनट पानी डालकर पैरों से आटे की तरह गूँथ लें। यह भी संभव नहीं है तो मिट्टी का पेस्ट लगाकर पैरो में लगाकर सूखने दे। फिर धो डालें।

4) कमर में कला धागा पहनें। यह ऊर्जा संतुलन में भी कारगर होता है। कमर की समस्याओं में उपयोगी है।

5) पृथ्वी अथवा काली की पूजा कर रसायनों-वनस्पतियों का पेस्ट बनाकर मूलाधार पर टीका लगाएं। यह संभव नहीं है तो निम्न उपाय करें।

6) शक्ति की उपासना।

7) भोजपत्र पर बना अभिमंत्रित -प्राण प्रतिष्ठित काली यन्त्र चांदी के ताबीज में गले में धारण करें जो किसी वास्तविक काली साधक द्वारा बनाया किया गया हो।

ऐसे करें महिलाएं शक्ति की उपासना में आपने पढ़े उपाय। ऊपर दिए गए उपायों पर यदि ध्यान देंगे तो बहुत सी समस्याएं कम हो जाएंगी और आप स्वस्थ रहेंगे।

यह भी पढ़ें- पंच तत्व का शरीर में संतुलन कर जीवन बनाएं सुखी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here