मां दुर्गा की कृपा किस राशि पर बरसेगी, पढ़ें कैसा रहेगा दिन

119
16 मार्च 2022 का राशिफल और दो दिन का पंचांग
16 मार्च 2022 का राशिफल और दो दिन का पंचांग।

rashifal and panchang of 21 october : मां दुर्गा की कृपा किस राशि पर बरसेगी। पढ़ें बुधवार के राशिफल में। इसमें दो दिन का पंचांग भी है। सूर्योदय व सूर्यास्त का समय देखें। साथ ही जानें शुभ-अशुभ मुहूर्त। यह भी देखें कि किस दिशा में यात्रा ठीक नहीं है। साथ देखें दिशा शूल में कमी के उपाय।

बुधवार का पंचांग

21 अक्टूबर। विक्रम संवत्- 2077। शक संवत्- 1942। अयन- दक्षिणायन। ऋतु- शरद। मास- अश्विन। पक्ष- शुक्ल। तिथि- पंचमी सुबह के 09.07 बजे तक। नक्षत्र- मूल देर रात 01.33 बजे तक। योग- शोभन सुबह के 06.50 बजे तक। उसके बाद अतिगंड योग अगले दिन तड़के 4.25 बजे तक। दिशा शूल- वायव्य (उत्तर-पश्चिम) दिशा। सूर्योदय- प्रातः 06.26 बजे। सूर्यास्त- सायं 17:45 बजे। राहुकाल- दिन के 12.05 से 01.30 बजे तक। अभिजीत मुहूर्त- नहीं है।

गुरुवार का पंचांग

22 अक्टूबर। विक्रम संवत्- 2077। शक संवत्- 1942। अयन- दक्षिणायन। ऋतु- शरद। मास- अश्विन। पक्ष- शुक्ल। तिथि- षष्ठी सुबह के 07.39 बजे तक। नक्षत्र- पूर्वाषाढ़ा देर रात 12.29 बजे तक। योग- शुक्रमन देर रात 02.37 बजे तक। दिशा शूल- ईशान (उत्तर-पूर्व) दिशा। सूर्योदय- प्रातः 06.26 बजे। सूर्यास्त- सायं 17:44 बजे। राहुकाल- दिन के 01.30 से 02.55 बजे तक। अभिजीत मुहूर्त- दिन के 11.43 से 12.28 बजे तक।

21अक्टूबर का राशिफल

मेष

आर्थिक मामलों के लिए दिन अच्छा है। निवेश की योजना को आगे बढ़ाएं। यदि मकान-जमीन खरीदने की योजना हो तो निर्णय लेने का समय आ गया है। कार्यक्षेत्र में थोड़ी परेशानी होगी। आपको मेहनत का उचित प्रतिफल नहीं मिल सकेगा।

वृष

अनावश्यक विवाद में फंसेंगे। इससे तनाव होगा। वाणी और क्रोध पर नियंत्रण रखें। किसी पर आंख मूंदकर किसी पर भरोसा नहीं करें। नया वाहन खरीदने का योग बन रहा है। परिवार के साथ अच्छा समय बिताएंगे। विद्याथिर्यों के लिए चुनौतियां बढ़ेंगी।

मिथुन

आप पर मां दुर्गा की कृपा रहेगी। नई जगह की यात्रा का योग बन रहा है। उसमें थोड़ी परेशानी होगी। फिर भी यात्रा का अवसर छोड़ें नहीं। भविष्य में उसका बेहतर फायदा मिलेगा। निवेश से पूर्व विशेषज्ञ से सलाह अवश्य लें। खान-पान में सतर्कता बरतें।

कर्क

रोजी-रोजगार के लिहाज से थोड़ी परेशानी होगी। जीवनसाथी के साथ मतभेद हो सकता है। बोलते समय सतर्क रहें। परेशान का मुख्य कारण वही बनेगा। यदि उस पर नियंत्रण रखें तो दिन सामान्य रहेगा। कार्यक्षेत्र में अधिक व्यस्तता रहेगी।

सिंह

पुराने विवाद से आगे निकलने का समय है। जिनसे विवाद है उनसे संबंध सुधारें। उनके साथ मिलकर काम करने से फायदा होगा। परिवार के साथ अच्छा समय बिताएंगे। वाहन चलाते समय सतर्कता बरतें। अन्यथा चोटिल हो सकते हैं।

कन्या

काम के दबाव से शारीरिक व मानसिक रूप से थक जाएंगे। अधिकारियों का भरपूर समर्थन मिलेगा। विरोधी परास्त होंगे। रुके हुए काम के पूरा होने का योग बन रहा है। काम के सिलसिले में कहीं दूर की यात्रा पर जा सकते हैं।

तुला

परिवार व मित्रों का भरपूर साथ मिलेगा। लेन-देन में सतर्कता बरतें। अनावश्यक खर्च का योग बन रहा है। स्वास्थ्य के प्रति भी सतर्क रहें। काम में मन लगेगा। धार्मिक कार्य में हिस्सा ले सकते हैं। संतान पक्ष से थोड़ी चिंता रह सकती है।

वृश्चिक

नजदीकी से अनावश्यक विवाद हो सकता है। अपने व्यवहार से उसे ठीक कर लें। परिवार में मांगलिक कार्य का योग बन रहा है। उससे मन प्रसन्न रहेगा। राजनीतिक क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों पर विरोधी हावी होंगे। धैर्य से स्थिति का सामना करें।

धनु

व्यवसायियों पर मां दुर्गा की कृपा रहेगी। कारोबार बढ़ सकता है। नौकरी करने वाले का कार्यक्षेत्र में प्रभाव बढ़ेगा। आर्थिक रूप से दिन अनुकूल है। नई योजना को आगे बढ़ा सकते हैं। परिवार में किसी के खराब स्वास्थ्य से परेशान रह सकते हैं।

मकर

नौकरी में बदलाव का सही समय आ रहा है। अपने प्रयास को गति दें। विरोधियों की गतिविधियां बढ़ेंगी। उससे परेशान नहीं हों। वे अंततः कुछ बिगाड़ नहीं पाएंगे। जीवनसाथी के साथ भी कुछ समय बिताएं। संतान पक्ष से परेशानी का योग है।  

कुंभ

कार्यक्षेत्र में नई जिम्मेदारी मिल सकती है। काफी समय से फंसे काम पूरे हो सकते हैं। कारोबार में थोड़ी परेशानी हो सकती है। बेरोजगार युवाओं के लिए अवसर है। वे कुछ बेहतर कर सकते हैं। उपयोगी दूरस्थ यात्रा का योग बन रहा है।

मीन

विद्यार्थियों के लिए अनुकूल समय है। तनाव में कमी आएगी। मां दुर्गा की कृपा से लक्ष्य की ओर बढ़ेंगे। कार्यक्षेत्र में तनाव बढ़ेगा। अधिकारियों से विवाद संभव है। धैर्य से स्थिति का सामना करें। आर्थिक रूप से दिन अनुकूल है। निवेश करने में फायदा हो सकता है।

नोट-आपने पढ़ा कि मां दुर्गा की कृपा किस राशि पर रही। पंचांग में दिशा शूल की जानकारी मिला। इसके बाद भी यात्रा जरूरी हो धनिया या तिल खाकर करें। दोष में कमी आएगी।

यह भी पढ़ें – अति कल्याणकारी हैं चंद्रघंटा, दुर्गा के तीसरे रूप की महिमा निराली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here