तीन मार्च 2022 का राशिफल और दो दिन का पंचांग

65
16 मार्च 2022 का राशिफल और दो दिन का पंचांग
16 मार्च 2022 का राशिफल और दो दिन का पंचांग।

rashifal and panchang of 3 March : तीन मार्च 2022 का राशिफल पढ़ें। जानें कैसा रहेगा आपका दिन। दो दिन का पंचांग देखें। इसमें सूर्योदय-सूर्यास्त का समय है। शुभ और अशुभ काल के साथ नक्षत्र व योग की जानकारी है। दिशा शूल में देखें कि किस दिशा की यात्रा ठीक नहीं है। उस ओर जाना जरूरी हो तो बचाव के उपाय पढ़ें।

बृहस्पतिवार का पंचांग

तीन मार्च। विक्रम संवत- 2078। शक संवत- 1942। अयन- उत्तरायन। मास- फाल्गुन। पक्ष- शुक्ल पक्ष। तिथि- प्रतिपदा रात के 09.36 बजे तक। नक्षत्र- पूर्व भाद्रपद रात के 01.56 बजे तक। योग- साध्य अगले दिन तड़के 03.29 बजे तक। दिशा शूल- दक्षिण और अग्नेय (दक्षिण-पूर्व) दिशा। इस ओर यात्रा उचित नहीं है। सूर्योदय- प्रातः 06.44 बजे। सूर्यास्त- सायं 18.22 बजे। राहुकाल- दिन के 14.00 से 15.28 बजे तक। अभिजीत- 12.10 से 12.56 बजे तक है। (नई दिल्ली के समयानुसार)

शुक्रवार का पंचांग

चार मार्च। विक्रम संवत- 2078। शक संवत- 1942। अयन- उत्तरायन। मास- फाल्गुन। पक्ष- शुक्ल पक्ष। तिथि- द्वितीया रात के 08.45 बजे तक। नक्षत्र- उत्तर भाद्रपद रात के 01.52 बजे तक। योग- शुभ रात के 01.45 बजे तक। दिशा शूल- पश्चिम और नैऋत्य (दक्षिण-पश्चिम) दिशा। इस ओर यात्रा उचित नहीं है। सूर्योदय- प्रातः 06.43 बजे। सूर्यास्त- सायं 18.23 बजे। राहुकाल- दिन के 11.06 से 12.33 बजे तक। अभिजीत- 12.10 से 12.56 बजे तक है। (नई दिल्ली के समयानुसार)

तीन मार्च 2022 का राशिफल

पढ़ें तीन मार्च 2022 का राशिफल। जानें कैसा बीतेगा आपका दिन? इसमें आप अपने जन्म समय और प्रचलित नाम के पहले अक्षर में से किसी भी आधार पर अपनी राशि जान सकते हैं। ऐसा पाया गया है कि बोलने वाले नाम का भी व्यक्ति के स्वभाव और जीवन पर असर पड़ता है। उसे भी इसमें शामिल किया गया है। साथ ही 12 राशियों को साल के 12 महीनों में तारीख के आधार पर भी बांटकर राशिफल दिया गया है। ये सारी विधियां प्रचलित और उपयोगी हैं। पाठक सुविधानुसार किसी का भी चयन कर सकते हैं।

मेष

(यदि आपका जन्म 21 मार्च से 20 अप्रैल के बीच हुआ या राशि के या बोलने वाले नाम का पहला अक्षर-चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ हो तो) आज का दिन आपके लिए रचनात्मक परिणाम लेकर आएगा। आपको अपने मन में किसी के प्रति भी गलत विचारों को आने से रोकना होगा। यदि आपका किसी से विवाद चल रहा है, तो उसे समाप्त करने की कोशिश करनी होगी।

वृष

(यदि आपका जन्म 21 अप्रैल से 20 मई के बीच हुआ या राशि के या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो हो तो) दिन आपके लिए सामान्य रहने वाला है। आज आप भविष्य को लेकर कुछ उलझनों में रहेंगे, जिसके कारण परेशान रहेंगे। धैर्य बनाएं रखें और समस्या से निकलने के लिए आप अपने किसी प्रिय मित्र से सलाह-मशवरा करें। इससे आपको लाभ होगा।

यह भी पढ़ें- एक साथ वास्तु और ग्रह दोष दूर करें, जीवन बनाएं खुशहाल

मिथुन

(यदि आपका जन्म 21 मई से 21 जून के बीच हुआ या राशि के या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हां हो तो) आज का दिन आपके लिए बाकी दिनों से बेहतर रहने वाला है। इसके लिए आवश्यक है कि आप अपने मन में नकारात्मक विचारों को आने से रोकें। तभी आसानी से अपने सभी कार्यों को आसानी से पूरा कर पाएंगे। वाहन चलाने में सतर्कता बरतें।

कर्क

(यदि आपका जन्म 22 जून से 22 जुलाई के बीच हुआ या राशि के या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो हो तो) दिन आपके लिए सामान्य रूप से फलदायक रहेगा। छोटे व्यापारियों को आज कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। उनको कुछ धन उधार लेना पड़ सकता है। यदि ऐसा हो, तो अपने भाई से सलाह-मशवरा करके ही धन उधार लें।

सिंह

(यदि आपका जन्म 23 जुलाई से 22 अगस्त के बीच हुआ या राशि के या बोलने वाले नाम पहला अक्षर-मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे हो तो) यह समय आपके लिए अनुकूल है। यदि किसी नए कार्य को शुरू करने की योजना है तो उसके लिए दिन उत्तम रहेगा। आपको भाग्य का भरपूर साथ मिलेगा। किसी प्रियजन से मुलाकात होगी। शाम का समय उनके साथ बातचीत में व्यतीत करेंगे।

कन्या

(यदि आपका जन्म 23 अगस्त से 22 सितंबर के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो हो तो) तीन मार्च 2022 का दिन मिला-जुला है। आज आपको जोखिम भरे निवेशों में धन लगाने से बचना होगा। यदि इसका ध्यान नहीं रखा, तो भविष्य में आपका वह धन डूब सकता है। समाज के वरिष्ठ व्यक्तियों से भेंट आनंदित करेगी।

तुला

(यदि आपका जन्म 23 सितंबर से 23 अक्टूबर के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते हो तो) आज का दिन आपके लिए सामान्य रहने वाला है। संतान पक्ष की ओर से किए गए कार्यों में आपको सुखद समाचार सुनने को मिलेगा। इससे आप का मनोबल बढ़ेगा। यदि किसी यात्रा पर जा रहे हैं, तो बहुत सोच-विचार कर जाएं।

वृश्चिक

(यदि आपका जन्म 24 अक्टूबर से 21 नवंबर के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू हो तो) आपको आज अपनी नौकरी व व्यापार दोनों में अपने विरोधियों से सावधान रहना होगा। कार्यक्षेत्र में आप अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें। अन्यथा किसी से कोई झड़प हो सकती है। जल्दबाजी से बचें, नहीं तो गड़बड़ी हो सकती है।

धनु

(यदि आपका जन्म 22 नवंबर से 21 दिसंबर के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे हो तो) कार्यक्षेत्र के लिहाज से दिन आपके लिए उन्नति भरा रहेगा। हालांकि खर्च का खूब योग है। भौतिक सुख के साधनों पर धन खर्च होने से मन में हर्ष होगा। अपनी दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति पर भी कुछ धन व्यय करेंगे।

मकर

(यदि आपका जन्म 22 दिसंबर से 19 जनवरी के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- भो, जा, जी, खी, खू, ख, खो, गा, गी हो तो) आज आप शुभ कार्य पर भी कुछ धन व्यय करेंगे। सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे। इससे आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी। व्यापार में आज आपके द्वारा लिया गया निर्णय आपके लिए लाभप्रद रहेगा।

कुंभ

(यदि आपका जन्म 20 जनवरी से 18 फरवरी के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा हो तो) यदि आपने साझेदारी में कारोबार किया है, तो वह आज आपको लाभ दे सकता है। आज आपकी किसी प्रिय वस्तु के खोने या चोरी  होने का भय है। आपको अपने किसी परिजन के लिए पैसों का इंतजाम करना पड़ सकता है।

मीन

(यदि आपका जन्म 19 फरवरी से 20 मार्च के बीच हुआ या राशि के आधार पर या बोलने वाले नाम पहला अक्षर- दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची हो तो) आज आप अपने बुद्धि व ज्ञान का उपयोग करके अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के सभी दरवाजे खोल लेंगे। इसके कारण आप अपने और अपने परिवार के सदस्यों की महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति करने में सफल रहेंगे।

नोट- तीन मार्च 2022 का राशिफल आपने पढ़ा। दिशा शूल में जाना कि आज दक्षिण और दक्षिण-पूर्व की यात्रा ठीक नहीं है। जाना जरूरी हो तो दही खाकर रवाना हों। इससे दोष में कमी आएगी। यदि एक ही स्थान से चलकर वापस लौटना हो तो कुछ करने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें- महाविपरीत प्रत्यंगिरा मंत्र का कोई नहीं कर सकता सामना </ a>

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here