दैनिक जीवन के कुछ जरूरी टिप्स

302

वास्तु का हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। आप मानें या न मानें लेकिन यह सच है कि रोजमर्रा की कुछ छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देकर हम अनावश्यक रूप से न सिर्फ कई परेशानियों से बच सकते हैं बल्कि जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। ऐसे ही कुछ टिप्स को मैं यहां दे रही हूं। संभव है कि इनमें से अधिकतर के बारे में आपने अपनी मां, दादी या नानी से पहले भी सुन रखा हो लेकिन नजरअंदाज कर दिया हो। इन्हें अवश्य आजमाएं। इसमें कोई अतिरिक्त मेहनत या खर्च नहीं है और इनसे चमत्कारिक फायदा मिलता है।


1- घर में सुबह सुबह कुछ देर के लिए भजन अवश्य लगाएं। और शांत चित्त होकर अंतर्मन में ध्यान स्थित करें। इस दौरान मन सकारात्मक ऊर्जा से भरी रहनी चाहिए।


2- घर में कभी भी झाड़ू को खड़ा करके नहीं रखें, उसे पैर नहीं लगाएं, न ही उसके ऊपर से गुजरें अन्यथा घर में बरकत की कमी हो जाती है। झाड़ू हमेशा छुपा कर (इस तरह रखे कि आते-जाते लोगों की उस पर नजर न पड़े) रखें।


3- बिस्तर पर बैठ कर या कहीं भी बैठकर कभी खाना न खाएं, ऐसा करने से बुरे सपने आते हैं। इससे भोजन के पचने में भी परेशानी होती है।


4- घर में जूते-चप्पल इधर-उधर बिखेर कर या उल्टे सीधे करके नहीं रखने चाहिए इससे घर बेतरतीब तो लगता ही है, अशांति भी उत्पन्न होती है।


5- पूजा सुबह 6 से 8 बजे के बीच भूमि पर आसन बिछा कर पूर्व या उत्तर की ओर मुंह करके बैठ कर करनी चाहिए। पूजा का आसन जुट अथवा कुश का हो तो उत्तम होता है।


6- पहली रोटी गाय के लिए निकालें। इससे देवता भी खुश होते हैं और पितरों को भी शांति मिलती है।


7- पूजा घर में सदैव जल का एक कलश भरकर रखें जो जितना संभव हो ईशान कोण के हिस्से में हो।


8- आरती, दीप, पूजा अग्नि जैसे पवित्रता के प्रतीक साधनों को मुंह से फूंक मारकर नहीं बुझाएं।


9- मंदिर में धूप, अगरबत्ती व हवन कुंड की सामग्री दक्षिण पूर्व में रखें अर्थात आग्नेय कोण में।


10- घर के मुख्य द्वार पर दायीं तरफ स्वास्तिक बनाएं।


11- घर में कभी भी जाले न लगने दें, वरना भाग्य और कर्म पर जाले लगने लगते हैं और हर काम में बाधा आती है।


12- सप्ताह में एक बार जरुर समुद्री नमक अथवा सेंधा नमक से घर में पोछा लगाएं 7 इससे नकारात्मक ऊर्जा हटती है।


13- कोशिश करें की सुबह सूर्य के प्रकाश की किरणें आपके पूजा घर में सबसे पहले जरुर पहुचें। मौजूदा फ्लैट संस्कृति में यदि यह संभव न हो तो इसके लिए ज्यादा परेशान भी न हों। इसके बदले शाम को देवी-देवता को गुग्गल जलाया करें। इससे नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है और सकारात्मक ऊर्जा को बल मिलता है।


14- पूजा घर में अगर कोई प्रतिष्ठित मूर्ति है तो उसकी पूजा हर रोज निश्चित रूप से हो, ऐसी व्यवस्था करें। यदि ऐसा संभव न हो तो मूर्ति की स्थापना न करें। इसके बदले फोटो की पूजा करें।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here