Tuesday, January 25, 2022
Home द्वादश ज्योतिर्लिंग

द्वादश ज्योतिर्लिंग

    राम के आचार्य बने रावण, लंका विजय के लिए कराई पूजा

    राम के आचार्य बने रावण, लंका विजय के लिए कराई पूजा

    Ravan was acharya of Ram, peformed pooja for Lanka win :  राम के आचार्य बने रावण। लंका विजय के लिए कराई थी पूजा। दिया...
    मोक्ष और ग्रह शांति का केंद्र है उज्जैन

    मोक्ष और ग्रह शांति का केंद्र है उज्जैन

    Ujjain is the center of salvation and planetary peace : मोक्ष और ग्रह शांति का केंद्र है उज्जैन। इसे लोग महाकाल का मंदिर, मोक्षदायिणी...
    ओंकार के प्रतीक हैं देवों के देव महादेव

    उज्जैन में दूर होते हैं सारे दुख, महाकाल करते हैं कृपा

    All sorrows go away in Ujjain : उज्जैन में दूर होते हैं सारे दुख। महाकाल की नगरी उज्जैन तीर्थों में श्रेष्ठ माना जाता है।...
    शिव के त्रिशूल पर काशी, शक्ति के साथ विराजमान हैं शिव

    शिव के त्रिशूल पर काशी, शक्ति के साथ विराजमान हैं शिव

    Shiva is seated with shakti in Kashi, situated on the trident of shiva :  शिव के त्रिशूल पर काशी स्थित है। यहां शक्ति के...

    शक्ति, भक्ति व मनोकामना पूर्ति के केंद्र : द्वादश ज्योतिर्लिंग

    द्वादश ज्योतिर्लिंग शिव के प्रमुख केंद्र के रूप में जाने जाते हैं। यहां साधना तथा पूजन का बहुत ज्यादा महत्व है। एक तरह से...

    मनमोहक..ओंकारेश्वर (द्वादश ज्योर्तिलिंग की यात्रा)

    द्वादश ज्योतिर्लिंग में ओंकारेश्वर का विशिष्ट स्थान है। नर्मदा के सुरम्य वादियों में बसा ओंकारेश्वर का वातावरण इतना सुंदर है कि यहां पहुंचने वाले...